दाखिल खारिज कैम्प के तहत 10271 मामलों का हुआ निष्पादन

पटना- जिलाधिकारी  कुमार रवि के निर्देशनुसार आज  पटना जिला अंतर्गत दाखिल-खारिज कैम्प का आयोजन किया गया जिसमे कुल 10271 वादों का निष्पादन किया गया।
फतुहा, दनियावा एवं बाढ़ में आयोजित दाखिल-खारिज के कैम्प में जिलाधिकारी स्वयं उपस्थित थे तथा उनकी उपस्थिति में लंबित दाखिल-खारिज के मामलों का निष्पादन किया गया।उन्होंने भी आवेदकों को दाखिल खारिज के पेपर प्रदान किया।


आज शिविर में पटना सदर अनुमंडल अंतर्गत पटना सदर में दाखिल-खारिज के 1560 मामलों का निष्पादन किया गया। सम्पतचक में दाखिल-खारिज के 1009 मामले को निष्पादित किया गया। फुलवारीशरीफ में दाखिल-खारिज के 781 मामले निष्पादित किये गये।
पटना सिटी अनुमंडल अंतर्गत फतुहाॅ में दाखिल-खारिज के 317 मामले को निष्पादित किया गया। खुशरूपुर में दाखिल-खारिज के 252 मामले को निष्पादित किया गया। दनियावां में दाखिल-खारिज के 123 मामले को निष्पादित किया गया।
बाढ़ अनुमंडल अंतर्गत बाढ़ में दाखिल-खारिज के 336 मामले को निष्पादित किया गया। बेलछी में दाखिल-खारिज के 141 मामले को निष्पादित किया गया। अथमलगोला में दाखिल-खारिज के 359 मामले को निष्पादित किया गया। पंडारक में दाखिल-खारिज के 350 मामले को निष्पादित किया गया। मोकामा में दाखिल-खारिज के 317 मामले को निष्पादित किया गया। घोषवरी में दाखिल-खारिज के 152 मामले को निष्पादित किया गया। बख्तियारपुर में दाखिल-खारिज के 483 मामले को निष्पादित किया गया।
मसौढ़ी अनुमंडल अंतर्गत मसौढ़ी में दाखिल-खारिज के 508 मामले को निष्पादित किया गया। पुनपुन में दाखिल-खारिज के 485 मामले को निष्पादित किया गया। धनरूआ में दाखिल-खारिज के 442 मामले को निष्पादित किया गया।
दानापुर अनुमंडल अंतर्गत दानापुर में दाखिल-खारिज के 428 मामले को निष्पादित किया गया। मनेर में दाखिल-खारिज के 409 मामले को निष्पादित किया गया। बिहटा में दाखिल-खारिज के 525 मामले को निष्पादित किया गया। नौबतपुर में दाखिल-खारिज के 465 मामले को निष्पादित किया गया।
पालीगंज अनुमंडल अंतर्गत पालीगंज में दाखिल-खारिज के 260 मामले को निष्पादित किया गया। विक्रम में दाखिल-खारिज के 352 मामले को निष्पादित किया गया। दुल्हिनबाजार में दाखिल-खारिज के 217 मामले को निष्पादित किया गया।
जिलाधिकारी ने बताया कि अंचल के वरीय नोडल पदाधिकारी के प्रतिवेदन के आलोक में वैसे राजस्व कर्मचारी, जिनके द्वारा आॅनलाईन दाखिल-खारिज वादों को निष्पादन में शिथिलता बरती जा रही है या अनावश्यक आपत्ति लगाया जा रहा है, के विरूद्ध अनुशासनिक कार्रवाई की जा रही है।
जिलाधिकारी ने सभी राजस्व कर्मचारी, अंचलाधिकारी भूमिसुधार उप समाहर्त्ता को निर्देश दिया कि हर हाल में लंबित आॅनलाईन दाखिल-खारिज मामलों का निष्पादन शीघ्र किया जाय।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here