ऐसा हुआ तो बंद हो जाएगा भारत में टिक टॉक और वीगो जैसे एप

टिक टॉक

स्वदेशी जागरण मंच ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भारत में टिक टॉक और इसके जैसे अन्य चाइनीज  एप्स पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। अपने पत्र में स्वदेशी जागरण मंच ने कहा कि चीन की कंपनियां भारत के हर बाजार में किसी भी कीमत पर घुसने का प्रयास कर रही है। वे इतने कम दामों पर समझौते कर रही हैं, जिन पर कोई भी प्रोफेशनल कंपनी कभी काम नहीं करती है।

स्वदेशी जागरण मंच का मानना है कि बिना चीन सरकार की सहायता के यह सब संभव नहीं है। चीन की कंपनियां एप्स डेवलप करने, मोबाइल बनाने ,सॉफ्टवेयर बनाने सहित अन्य अनेक कामों में लगी हुई हैं। जब इनके बनाए हुए एप्स या मोबाइल का इस्तेमाल किया जाता है यूज़र का संवेदनशील डाटा इन कंपनियों के पास से होते हुए चीन की सरकार तक पहुंचने का खतरा बना रहता है।

ऐसे डाटा जो प्राय संवेदनशील होते हैं उनसे हमारी देश की अर्थव्यवस्था और सुरक्षा को एक गंभीर खतरा हो सकता है। इसी खतरे के मद्देनजर स्वदेशी जागरण मंच ने इन एप्स पर प्रतिबंध लगाने की मांग प्रधानमंत्री से की है। इससे पहले इंडोनेशिया समेत कई देशों में इस तरह के प्रतिबंध लग चुके हैं। चीन की सरकार ने भी अपने नागरिकों के इंटरनेट और सोशल मीडिया का इस्तेमाल पर काफी पहले से प्रतिबंध लगा रखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here